Saturday, December 10, 2016

नया इतिहास लिख दे


नया इतिहास लिख दे

अपनी धरती, अपना ही
आकाश लिख दे,
अपनी मेहनत से नया
इतिहास लिख दे ।

लोग तेरी राह में
पलकें बिछा दें,
तू अलग अपना नया
अंदाज लिख दे ।
अपनी धरती...

हौसले गर हों बुलंद
तो मंज़िलों की क्या कमी ?
सबके दिल में बस यही
एहसास लिख दे ।
अपनी धरती...

पत्थरों की बस्तियों में
लोग पत्थर हो गए,
पत्थरों के दिल में भी
जज्बात लिख दे ।
अपनी धरती...

इस जहाँ में अपना साया
भी नहीं अपना,
फिर भी तू सबके लिए
बस प्यार लिख दे ।
अपनी धरती...
-------------------------------