Flag counter Chidiya

Flag Counter

Wednesday, August 31, 2016

ज़िंदगी हर पल कुछ नया सिखा गई


ज़िंदगी हर पल कुछ नया सिखा गई


जिंदगी हर पल कुछ नया सिखा गई
ये दर्द में भी हँस कर जीना सिखा गई ।

हम चुप रहे तो जिंदगी बोली कि कुछ कहो
जब बोलने लगे तो चुप रहना सिखा गई ।

यूँ मंजिलों की राह भी आसान नहीं थी
बहके कदम तो फिर से सँभलना सिखा गई ।

काँटे भी कम नहीं थे गुलाबों की राह में
खुशबू की तरह हमको बिखरना सिखा गई ।

अच्छाइयों की आज भी कीमत है जहाँ में

दामन को दुआओं से ये भरना सिखा गई ।

ना आरजू किसी की ना किसी का इंतजार

अपने ही दम पे हर कदम रखना सिखा गई ।
---------------------------------------------